Astrology
Contact Us

Jupiter Transit In 2021

Jupiter transit in Aquarius sign
Jupiter Transit in Aquarius sign from 6th April to 14th September 2021.
Jupiter transit in Capricorn sign from 14 September 2021 to 21 November 2021.
Jupiter transit in Aquarius sign from 21 November 2021 to 13 April 2022.
Jupiter retrograde in Aquarius to Capricorn sign from 20 June 2021 to 18 Oct 2021.

महानायक ग्रह बृह्स्पति का किसी राशि में गोचरीय परिवर्तन होना एक बहुत बड़ी घटना मानी जाती हैं। जिससे सभी के ऊपर शुभ-अशुभ प्रभाव अवश्य पड़ते हैं। वैदिक ज्योतिष के अनुसार 6 अप्रैल को बृहस्पति ग्रह का गोचर शनि की नीच राशि मकर से शनि की मूल-त्रिकोण राशि कुम्भ में हो रहा हैं, शनि ग्रह न्याय और अनुशासन के साथ वैराग्य का प्रतीक है, बृहस्पति को भी कानून, धन और धर्म का कारक ग्रह कहा गया हैं।

कुम्भ राशि वायु तत्व का प्रतीक हैं, वायु तत्व राशि में आकाश तत्व बृहस्पति का गोचर होने से व्यक्ति मानसिक रुप से कुछ नया सीखने का इच्छुक होगा। इस समय में व्यक्ति बिना तर्क-वितर्क के साहस के साथ पुरानी परंपराओं को खत्म करेगा और खुले विचारों के साथ अपना और समाज़ का विस्तार करेगा। इस समय में व्यक्ति सभी बंधनों से बाहर आकर आज़ादी के साथ अपनी सोच को कार्यांवित करेगा। काल पुरुष के नवम भाव का स्वामी बृहस्पति एकादश भाव में गोचर के दौरान व्यक्ति की इच्छओं और भाग्य को बढ़ावा देगा जिससे व्यक्ति सहनशील, निष्पक्ष और नये-नये आविष्कार करने वाला बनेगा।

दोनों ग्रह ही अपने में बहुत कुछ बनाने और बिगाड़ने की क्षमता रखते हैं। बृहस्पति हमारे अनुभवों, धन, ज्ञान और बुद्धि का विस्तार करता हैं। मकर राशि में बृहस्पति आशावादी, विकासवादी, उदारता, उच्च-विचार और न्याय का प्रतीक बन रहा था। अब कुम्भ राशि में बृहस्पति व्यक्ति की समाज़ में पहचान और स्थान बनाने में जागरुकता पैदा करेगा और निष्पक्षता, राज़नीति, शिक्षा, विशेषता के साथ मानवतावादी बनने को प्रोत्साहित करेगा। इस गोचर से व्यक्ति का दिमाग उसको नये-नये विचारों के साथ आगे बढ़ने की प्रेरणा देता हैं।

बृहस्पति के इस गोचर के साथ व्यक्ति अपनी खुशी, नाम, यश और हक के लिए अपने जीवन में सुधार और विस्तार करेगा। अपने लक्ष्य को पाने के लिए खुले दिमाग से सभी बाधाओं को पार करने की कोशिश करेगा। यह एक शानदार गोचरी स्थिति हैं, जिसमें व्यक्ति अपने अहम को त्याग कर समाज़ में खुद को और अपने कौशल को बेहतर बनाने के लिए उचित शिक्षण, सलाह, मार्गदर्शन और ज्ञान को सहारा लेगा और पुराने विचारों, प्रथाओं और विश्वासों को पार करते हुए समाज़ में अपनी पहचान बनायेगा।

कुम्भ में बृहस्पति व्यक्ति को आधुनिक और वैज्ञानिक सोच-विचार के साथ सभी मित्रों का सहयोग और साहस देगा, जिससे व्यक्ति एक समुह के साथ कार्य करने में सक्षम होगा। व्यक्ति अपने मन, विश्वास के साथ विस्तार और विकास की ओर प्रेरित होगा। शनि की मूल त्रिकोण राशि कुम्भ एक क्रांतिकारी गुण सहित होती हैं, जिसमें प्रबंधनकारी बृहस्पति का समावेश हो रहा हैं, जिसके परिणाम स्वरुप व्यक्ति भावुकता से मुक्त हो कर सभी कठिन कार्य करने में सक्षम हो जाता हैं।

इस समय में बहुत से राज़नीतिज्ञ बदलाव आएंगे जिसमें समाज़ की भलाई के साथ जनता को नया अनुभव मिलने वाला हैं, कुछ क्रांतिकारी और कानूनी बदलाव ऐसे भी होंगे जो आसान नहीं होंगे, जो देखने और अपनाने में बहुत ही सख्त होंगे।

जानें आपकी राशि के अनुसार आप के ऊपर क्या प्रभाव आएगा।

मेष: मेष राशि के एकादश भाव में यह बृहस्पति का गोचर होने जा रहा हैं, जिससे इस समय में आपकी किस्मत आपका साथ देगी और आपकी इच्छाएं भी पूरी होंगी। आपके व्यापार में भी अधिक सकारात्मकता आएगी, अब तक जितनी परेशानी या समस्या का सामने आपने किया हैं, उसमें भी राहत मिलेगी। अगर आप किसी के साथ कोई नया कार्य करने जा रहे हैं तो बहुत ही सावधानी से करें क्योंकि, दिखाई कुछ देगा और होगा कुछ, इसलिए किसी पर भरोसा न करें। नौकरी के क्षेत्र में बदलाव और नये अवसरों के लिए भी समय बेहतर रहेगा। किसी भी रिश्ते को लेकर इस समय में भ्रम में नहीं रहें और बिना किसी सलाह के आगे भी नहीं बढ़े।

वृष: आप बहुत ही खुश मिज़ाज और राज़सिक जिंदगी जीने वालों में से हैं। आपकी राशि से दशम भाव में यह गोचर होने जा रहा हैं, आप किसी भी तरह के कार्य में नई शुरुआत करने से पहले सलाह अवशय ले लें। इस वर्ष आपका मन अपने ही कार्य क्षेत्र में नहीं लगेगा और आप एक जगह टिक कर काम नहीं कर पाएंगे। नौकरी में भी किसी तरह के बदलाव के लिए बहुत सोच-समझ कर कदम उठायें। किसी भी तरह के अनावश्यक खर्चें को लेकर सावधान रहे। धार्मिक यात्राओं के लिए यह समय उत्तम रहेगा और आपके रिशतों में भी सुधार आएगा।

मिथुन: मिथुन राशि वाले बहुत ही समझदार होते हैं, जिससे इनमें जन्म से ही कुशलता देखी जाती हैं, तभी इस राशि वालों की बुद्धि एक मिसाल होती हैं। इस साल व्यापार में जितनी मेंहनत करेंगे, उतना ही अच्छा फल मिलेगा और नये अवसरों के साथ लाभ के भी योग बन रहें हैं। भाग्य भाव में बन रहे इस गोचर के साथ इस समय में भाग्य आपका साथ देगा और मेहनत भी रंग लाएगी। यह वर्ष रिश्तों को लेकर कुछ मिला-जुला रहेगा इसलिए कोई भी नया रिश्ता जोड़ने से पहले सामने वाले को भी समझ ले नहीं तो आपकी भावनाओं को आहत पहुंचेगी।

कर्क: कर्क राशि वाले बहुत भावुक व सबकी मदद करने वाले होते हैं, आपको सलाह दी जाती हैं, कि आप कोई भी काम किसी की बातों में आकर नहीं करें, नहीं तो आपके भरोसे के साथ धोखा हो सकता हैं। व्यापार और नौकरी को लेकर यह समय बेहतर रहेगा, नये अवसरों के साथ आपके नये संबंध भी बनेंगे और कार्य क्षेत्र में नाम के साथ आय का भी लाभ होगा। इस वर्ष किसी नये साथी के साथ आपका रिश्ता जुड़ सकता हैं, जो आपका अकेलापन दूर करेगा और आपको एक ऐसे साथी का साथ मिलेगा जिसकी हमेशा आपकी जिंदगी में कमी रहती थी। अगर किसी तरह की मानसिक अशांति का अनुभव करते हैं तो आप अपना समय धार्मिक स्थान में व्यतीत करेंगे। इस गोचर के दौरान आपका अपना झूठ ही आपका दुशमन बन सकता हैं इसलिए सावधान रहें।

सिंह: आपकी राशी वाले बहुत गुस्से वाले व स्वाभिमानी होते हैं, आप बहुत अच्छे लीड़र और बॉस भी होते हैं। इस साल आपके कार्य में आपकी नई पहचान के साथ आय में भी बहुत बढ़ौतरी हो जाएगी, अगर कहीं से अधिक धन का आगमन हो तो अपने पैसे को समय रहते निवेश करें। वर्ष मध्य में भ्रमित दिमाग के चलते आप सही निर्णय नहीं ले पाएंगे, बहुत ही सोच-समझ कर निर्णय लेने का समय रहेगा। इस वर्ष विवाहित जीवन में परेशानी आएगी, जो आपकी सेहत के लिए नुकसान का कारण बन सकती हैं।

कन्या: कन्या राशि आप अपने व्यवसाय या नौकरी में जैसै हैं, वैसे ही रहे, कोई बदलाव लाने की कोशिश न करें, जो काम कर रहें हैं, उसी काम में फायदा होगा। आपकी किस्मत व मेहनत आपके साथ हैं, जितनी मेहनत करते रहोगे, उतना अच्छा परिणाम सामने आता रहेगा, जैसा चाहोगे वैसा मिलेगा, परंतु बदलाव में कोई भी जल्दबाज़ी नहीं करें। इस साल आपका वैवाहिक जीवन पहले से बेहतर हो जाएगा। साथ ही साल के मध्य में छोटी-छोटी यात्राएं होती रहेगी, पर कोई फायदा नहीं होगा हो सके तो इस समय तय यात्रा को कुछ समय के लिए टाल दें।

तुला: आप की राशि वाले बहुत अच्छे व्यपारी होते हैं, आप की खास बात यह की आप अपने व्यापार को लेकर बहुत ही चिंतित भी रहते हैं आपकी सोच हमेशा कुछ नया करने की होती हैं, अपना नाम आप अपने व्यापार से ही करते हैं। इस साल व्यापार के लिए अच्छा समय रहेगा, परंतु जोश में आ कर कोई भी कदम न उठाए क्योंकि आप जोश में होश खो देते हैं और कल की न सोचते हुए आज के फायदे को ही देखते हैं, इसलिए आपको इस साल जो आय आती हुई दिखाई देगी, वह आपके हाथ में नहीं आएगी, जिससे आपको कुछ निराशा का सामना करना पढ़ सकता हैं। यह बृहस्पति का गोचर आपके पंचम भाव में हो रहा हैं, जो आपकी पसंद को बढ़ाएगा और आप अपने लिए समय भी निकालेंगे।

वृश्चिक: बृहस्पति का यह गोचर आपकी राशि से चतुर्थ भाव में होने से यह गोचर धन के लिए बहुत उत्तम रहेगा और आप ज़मीन में भी एक अच्छा निवेश कर पाएंगे। यह वर्ष व्यापार में आपको नये अवसरों के साथ कुछ उलझनें भी देगा, इसलिए कोई भी निर्णय जल्दबाज़ी में नहीं लें। नौकरी के बदलाव के लिए भी समय कुछ कमज़ोर रहेगा। यह वर्ष परिवार के लिए बहुत बेहतर रहेगा, पुरानी खटास भी दूर होगी और घर में पार्टी का आयोज़न भी होगा। अगर आप किसी से प्रेम करते हैं, तो यह समय नये रिश्ते के लिए भी बेहतर रहेगा।

धनु: आपकी राशि के स्वामी का गोचर तीसरे भाव में कुम्भ राशि में होने जा रहा हैं। धनु राशि बहुत ही निड़र राशि हैं और आप हमेशा मुश्किलों से लड़ने के लिए तैयार रहते हैं, यह वर्ष व्यापार में कुछ नया करने का मौका भी देगा, जिससे आपकी एक नयी पहचान भी बनेगी। इस वर्ष धन भी आएगा पर टिकेगा नहीं, खर्चें इतने अनावश्यक हो जाएंगे की पैसा कहा जा रहा हैं, आपको पता ही नहीं चलेगा। अपनी ज़बान से सोच समझ कर बोले, क्योंकि आपके गुस्से में सीधे शब्द बोलने की वज़ह से आप कुछ भी बोल कर सामने वाले का दिल दुखा सकते हैं। आपका वैवाहिक जीवन इस साल आपके अहम के चलते कुछ नकारात्मक होगा, आपको बहुत ही सम्भल कर चलना होगा।

मकर: आपकी मकर राशि कर्म की राशि हैं और कर्म के क्षेत्र में आप सबसे आगे रहते हैं, आपकी राशि काल पुरुष की कर्म की राशि हैं, आप बहुत मेहनत करते हैं और मेहनत करने से घबराते नहीं हैं। इस साल आपके सितारे आपके लिए बहुत मेहनत भरा समय ला रहे हैं, लेकिन भाग्य भी आपका भरपूर साथ देगा और आपको नये अवसरों के साथ आय के भी नये साधन बनेंगे। इस वर्ष आप अपने खर्चों पर भी ध्यान देना, आप को सलाह दी जाती हैं कि आप अपनी ज़बान से किसी से कोई भी वादा न करे न ही कोई गलत शब्दों का इस्तेमाल करे।

कुम्भ: आपकी राशी वाले लोग भी बहुत मेहनती और बहुत अच्छे व्यापारी होते हैं। बृहस्पति का गोचर आपकी ही राशि में हो रहा हैं, जिससे इस समय में आपकी सोचने की क्षमता में सकारात्मक सुधार आएगा। आपकी मेहनत आपका भरपूर साथ देगी और नये अवसरों के साथ किसी नये काम की शुरुआत भी होगी। इस साल आप अपना समय समाज़ सेवा में भी लगाओगे और लोगों की परेशानी को सुलझाने की कोशिश करेंगे। परिवार को लेकर आप बहुत सकारात्मकता का अनुभव करोगे और घर के वातावारण में सुकून का अनुभव करोगे, लेकिन साढे-सात्ति की वज़ह से किसी अपने के खोने का ड़र बना रहेगा।

मीन: आपकी राशि बहुत खोज़ वाली राशि मानी जाती हैं, आप जो भी काम करते हैं, बहुत सोच समझ कर करते हैं। आपको सलाह दी जाती हैं, कि आप अपनी मेहनत को इस साल बड़ा दे, क्योंकि शनि आय स्थान में आ कर आपके जीवन में मेहनत और संघर्ष को बढ़ा देगा और आप को आराम से बैठने नहीं देगा, बहुत भाग-दौड़ करवाने वाला हैं, लेकिन बृहस्पति साथ ही मेहनत के अच्छे फल भी देगा। आपकी नौकरी में इस साल बदलाव आ सकता हैं, और यह बदलाव अच्छा ही होगा। यह गोचर आपको धार्मिक स्थान की यात्राएं भी करवाएगा, जिससे आप को मानसिक शांति भी मिलेगी।

अगर आप भी इस गोचर के परिवर्तन में अपने बारे मे कोई जानकारी लेना चाहते हैं तो राघावाया ज्योतिष से सम्पर्क कर सकते हैं, जिसमें आपको आपके ग्रहों के अनुसार, आपके ऊपर होने वाले इस गोचर के बदलाव को बताया जाएगा। आप अपने सवालों के द्वारा भी इस गोचर के प्रभाव को जान सकते हैं कि यह गोचर आपके जीवन के अन्य पहलूओं पर कितना सकारात्मक/नकारात्मक प्रभाव दे सकता हैं। अगर आप ऑनलाईन/ऑफलाईन ज्योतिष, वास्तु और अंक ज्योतिष सीखना चाहते हैं तो हमसे सम्पर्क करें।


Fill this form and pay now to book your Appointments
Our team will get back to you asap


Talk to our expert

 


Ask Your Question


Our team will get back to you asap